• Admin

निर्मल हृदय मतलब नरसी कुलरिया

जरूरतमंदों की सेवा व सहायता के लिए तत्पर

बीकानेर: कुछ दिन पूर्व भीषण सड़क हादसे में काल का ग्रास बने 9 लोगों व घायलों के परिवारों की नरसी कुलरिया ने दी सहायता

घटना-दुर्घटना सब विधाता के हाथ में है, लेकिन सेवा और सहायता मानव के हाथों में है। जरुरतमंदों की सेवा व सहायता के लिए हमें तत्पर रहना चाहिए। यह बात समाजसेवी नरसी कुलरिया ने कलक्ट्रेट सभागार में माडिया गांव में हुई दुर्घटना में मृतकों के परिजनों एवं घायलों को सहायता राशि प्रदान करते हुए उपस्थितजनों के समक्ष कही। कुलरिया ने कहा कि उन्हें अपने पिता संत दुलाराम कुलरिया से जरुरतमंद लोगों की मदद की सीख मिली है जिसका वे निर्वहन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि उनके परिवार को ऐसे समय में जरुरतमंद लोगों की मदद करके सुकून प्राप्त होता है। उन्होंने दिवंगतों के प्रति संवेदना जताई तथा भविष्य में जरुरतमंद लोगों की सहायता के लिए तत्पर रहने का भरोसा दिलाया।

गत दिनों नोखा से सुजानगढ़ रोड पर माडिया गांव में हुई दुर्घटना में मृतकों के परिजनों एवं घायलों को शनिवार को नरसी कुलरिया की ओर से सहायता राशि उपलब्ध करवाई गई। कलक्ट्रेट सभागार में जिला कलक्टर अनिल गुप्ता, कुलरिया परिवार के भंवर कुलरिया, नरसी कुलरिया तथा राज्य अनुसूचित आायोग के सदस्य सुरजाराम नायक ने दस मृतकों के परिजनों को एक-एक लाख तथा 12 घायलों को पंद्रह-पंद्रह हजार रुपए के चैक प्रदान किए। इस अवसर पर जिला कलक्टर ने दिवंगतों के प्रति संवेदना प्रकट की तथा कुलरिया परिवार द्वारा उपलब्ध करवाई गई सहायता को अनुकरणीय बताया।

अपने पिता श्री संत दुलाराम कुलरिया सुथार की स्मृति में आप ऐसे सामाजिक कार्य हमेशा करते रहते है।

मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान में 21 लाख रूपये का सहयोग देकर आपने जल बचाओ अभियान को सपोर्ट किया, इसी तरह राष्ट्र में समय समय पर जरुरतमंदो को, आर्थिक स्थिति से कमजोर बालिकाओं को नरसी कुलरिया सहयोग करते रहते है।

यह है वह तिकड़ी जो सामाजिक सरोकारों व राष्ट्र कार्यों में हमेशा अग्रणी रहती है। वॉइस ऑफ़ भारत आपके ऐसे कार्यों की सराहना करता है।


Featured Posts
Recent Posts
Archive
Search By Tags
Follow Us
  • Facebook Basic Square
  • Twitter Basic Square
  • Google+ Basic Square

वॉइस ऑफ़ भारत, हमारी कोशिश है आपको भारत की वो तस्वीर दिखाने की, जिसे अनगिनत, अंजाने नागरिक उम्मीद के रंगों से संवार रहे हैं. 

SUBSCRIBE FOR EMAILS
  • Twitter
  • Facebook
  • Tooter

© 2021-22 Voice of Bharat