• Admin

भारत की जांबाज़ बेटियाँ

भारत की जांबाज़ बेटियाँ दुनिया का चक्कर लगा कर स्वदेश पहुंचीं, रक्षा मंत्री सीतारमण और नौ-सेना प्रमुख सुनील लांबा ने किया स्वागत, प्रधानमंत्री मोदी ने दी बधाई।

गोवा में एक स्वागत कार्यक्रम के दौरान रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन ने कहा, ' उन्होंने जो सफलता हासिल की है उसके लिए मैं बहुत खुश हूं. भारत के युवा सफलता हासिल कर रहे हैं. यह महिला और पुरुष, दोनों के लिए प्रेरणादायक है.''

दुनिया की परिक्रमा करने गई नौसेना की 6 महिला अफसर वापस भारत लौट आई हैं. सोमवार को गोवा में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन ने उनका स्वागत किया. 6 महिला अफसरों का यह दल INSV तारिणी के जरिए परिक्रमा पर बीते साल 10 सितंबर 2017 को निकला था. तारिणी को वर्तिका जोशी कमांड कर रही थीं. चालक दल के अन्य सदस्यों में लेफ्टिनेंट कमाण्डर प्रतिभा जामवाल, पी. स्वाति, लेफ्टिनेंट एस. विजया देवी, बी. ऐश्वर्या और पायल गुप्ता शामिल थीं.

गोवा में एक स्वागत कार्यक्रम के दौरान रक्षा मंत्री सीतारमन ने कहा, ' उन्होंने जो सफलता हासिल की है उसके लिए मैं बहुत खुश हूं. भारत के युवा सफलता हासिल कर रहे हैं. यह महिला और पुरुष, दोनों के लिए प्रेरणादायक है.'' देश में बनी आईएएनएसवी तारिणी, जिसे मेक इन इंडिया अभियान के तहत निर्मित किया गया है. इन्होंने 55 फुट के ‘ आईएनएस तारिणी ’ में अपनी यह यात्रा पूरी की. भारतीय नौसेना में इसे पिछले साल 18 फरवरी को शामिल किया गया था. नौसेना ने बताया कि सभी महिला चालक सदस्य द्वारा हासिल की गई यह पहली उपलब्धि है.

नौसेना के एक प्रवक्ता ने बताया कि यह यात्रा छह चरण में पूरी की गई है और चालक दल ने इस दौरान फ्रेमांटले (ऑस्ट्रेलिया), लाइटिलटन (न्यूजीलैंड), पोर्ट स्टैनली (फॉकलैंड द्वीप), केप टाउन (दक्षिण अफ्रीका) और मॉरीशस में अपना पड़ाव डाला. प्रवक्ता ने बताया कि चालक दल ने अपनी यात्रा के दौरान 21,600 नॉटिकल माइल की दूरी तय की और दो बार भूमध्य रेखा , तारिणी चार महाद्वीपों और तीन सागरों को पार किया.


Featured Posts
Recent Posts
Archive
Search By Tags
Follow Us
  • Facebook Basic Square
  • Twitter Basic Square
  • Google+ Basic Square

वॉइस ऑफ़ भारत, हमारी कोशिश है आपको भारत की वो तस्वीर दिखाने की, जिसे अनगिनत, अंजाने नागरिक उम्मीद के रंगों से संवार रहे हैं. 

SUBSCRIBE FOR EMAILS
  • Twitter
  • Facebook
  • Tooter

© 2021-22 Voice of Bharat