Please reload

Recent Posts

सीमा प्रहरियों के स्नेह के आगे...हारा कोरोना, सिस्टर ऑफ़ बीएसऍफ़ हर साल की तरह इस बार भी पहुंची बॉर्डर पर

August 3, 2020

1/10
Please reload

Featured Posts

लीडर वह नहीं जो हिंसा के लिए लोगों को भटकाने का काम करे: सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत

December 29, 2019

सिक्स सिग्मा लीडरशिप समिट में खुलकर बोले सेना प्रमुख बिपिन रावत, सीएए-एनआरसी पर कहा लीडर वह नहीं जो हिंसा के लिए लोगों को भटकाने का काम करे, इसी अंतर्राष्ट्रीय समिट में वॉइस ऑफ़ भारत की ब्रांड एम्बेसडर सुश्री पार्वती जांगिड़ सुथार बनी ‘‘ज्यूरीज स्पेशल ऑफ़ द ईयर‘‘, सेना प्रमुख की मौजूदगी में केन्द्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने दिया "ऑस्कर ऑफ लीडरशिप अवार्ड"

जनरल बिपिन रावत ने कहा- बड़ी संख्या में विश्वविद्यालय-कॉलेज के छात्र आगजनी और प्रदर्शन में शामिल हो रहे हैं उन्होंने कहा- लीडरशिप करना आसान नहीं है, यह सरल प्रतीत होता है लेकिन यह बहुत ही जटिल प्रक्रिया है.

-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शनों में हिंसा को लेकर सेना प्रमुख बिपिन रावत ने गुरुवार को खुलकर अपना पक्ष रखा। उन्होंने प्रदर्शनों में छात्रों के शामिल होने पर कहा कि यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में हिंसा और आगजनी करने वाले लीडर नहीं हो सकते हैं। असल मायने में लीडरशिप आपको सही दिशा दिखाने का काम करती है। सीएए और एनआरसी के खिलाफ पिछले दिनों असम में छात्र यूनियन सड़कों पर उतरी थीं, उसके बाद दिल्ली के जामिया और अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में छात्रों ने उग्र प्रदर्शन किया था।
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
31 दिसंबर को सेवानिवृत्त हो रहे जनरल रावत ने कहा, ''लीडर वह नहीं है जो लोगों को भटकाने का काम करता है। हमने देखा है कि बड़ी संख्या में यूनिवर्सिटी और कॉलेज के छात्र आगजनी और हिंसक प्रदर्शन के लिए भीड़ का हिस्सा बन रहे हैं। इस भीड़ को एक नेतृत्व प्रदान किया जा रहा है लेकिन असल मायने में यह लीडरशिप नहीं है। इसमें कई प्रकार की चीजें चाहिए। जब आप आगे बढ़ते हैं, तो हर कोई आपका अनुसरण करता है। यह इतना आसान नहीं है। यह सरल प्रतीत होता है, लेकिन यह एक बहुत ही जटिल घटना है। असल मे लीडर वह है जो आपको सही दिशा में आगे ले जाता है।”
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

पार्वती बनी ‘‘ज्यूरीज स्पेशल ऑफ़ द ईयर‘‘, सेना प्रमुख की मौजूदगी में केन्द्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने दिया ऑस्कर ऑफ लीडरशिप अवार्ड

विजन इण्डिया फैलो, यूथ आइकॉन, युवा संसद-भारत की चेयरपर्सन सुश्री पार्वती जांगिड़ ने एक बार फिर बढ़ाया जोधपुर का मान, मिला ऑस्कर ऑफ लीडरशिप अवार्ड, देश के राजधानी दिल्ली में चुनी गई ‘‘ज्यूरिज स्पेशल ऑफ़ द ईयर‘‘


प्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्त्ता, यूथ लीडर, जोधपुर की बेटी और एशिया में भारत व माल्डोवा की सांस्कृतिक राजदूत, यूथ पार्लियामेंट ऑफ़ इंडिया की चेयरपर्सन सुश्री पार्वती जांगिड़ सुथार ने एक बार फिर मारवाड़ ही नहीं बल्कि पूरे देश का मान बढ़ाया। सिक्स सिग्मा की मेजबानी में गुरूवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के पाँच सितारा होटल पुलमैन में आयोजित भव्य समारोह में ऑस्कर ऑफ हैल्थकेयर एण्ड लीडरशिप अवार्ड से नवाजा गया, पूरे विश्वभर से सैंकड़ों नोमिनेशन आये, गहन अध्ययन व विश्लेषण, अब तक की साहसिक यात्रा का कठिन आंतरिक - बाहरी ऑडिट, विशेषकर पार्वती का युवाओं को राष्ट्रनिमार्ण के प्रति प्रेरित करना, आर्म्ड फोर्स, पैरामिलिट्री फोर्स के प्रति कार्यां ने निर्णायक मण्डल को प्रभावित किया और लोगों की जिंदगियाँ बदलने के संकल्प ने दुनिया भर में प्राप्त नोमिनेशन में से पार्वती को विनर ‘‘ज्यूरीज स्पेशल ऑफ़ द ईयर‘‘ घोषित करवाया। कार्यक्रम संयोजक और सिक्स सिग्मा के महानिदेशक डॉ प्रदीप भारद्वाज ने विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि पार्वती का नोमिनेशन सूर्या फाउण्डेशन के वाइस चैयरमेन डॉ अंनत बिरादर ने किया। जिसको निर्णायक मण्डल ने फाइनल राउण्ड में 698 प्रतिभागियों में सर्वश्रेष्ठ घोषित किया। सुश्री पार्वती जाँगिड़ सुथार के कार्यों को मान्यता देते हुए इस विश्व स्तरीय समारोह में सेना प्रमुख बिपिन रावत व कई माननीयों की गरिमामयी मौजूदगी में केन्द्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने ‘‘ज्यूरीज स्पेशल ऑफ़ द ईयर‘‘ सम्मान प्रदान किया, समारोह में विश्वभर से आई 1500 महान हस्तियों के साथ कई राजनेता, आर्मी ऑफीसर मौजूद रहे।

 इनकी रही गरिमामयी उपस्थितिः-
सेना प्रमुख और भावी चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, केन्द्रीय मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर, उत्तराखण्ड के स्वास्थ्य मंत्री, पद्मभूषण मेजर एचपीएस आहुवालीया, सांसद डॉ किरीट पी सोलंकी, लेफ्टिनेंट जनरल अनुप बनर्जी, एम्स दिल्ली निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया, एयरमार्शल एम एम बुटोला, लेफ्टिनेंट जनरल एस एम लोंधे, वाइस एडमिरल एम वी सिंह, लेफ्टिनेंट जनरल आर एस ग्रेवाल, परमवीर बनासिंह, परमवीर योगेन्द्र यादव, बीएसएफ के असि.कंमाडेंट व 7 बार माउण्ट एवरेस्ट फतह करने वाले लवराजसिंह धर्मसक्तु, बी एन पटेल, एम्स ़ऋषिकेष निदेशक डॉ रविकांत, डॉ अभिजित सेठ, लेफ्टिनेंट कर्नल प्रवीण ग्रेवाल, लेफ्टिनेंट कर्नल सचिन निकम, लेफ्टिनेंट कर्नल रजनीश जोशी, लेफ्टिनेंट कर्नल विशाल चौपड़ा, डॉ पी एन अरोड़ा, डॉ उपासना अरोड़ा,  कई एशियाई देशों के राजदूत सहीत सैंकडों गणमान्य लोग मौजूद रहे।

निर्णायक मण्डलः-
डॉ किरीट पी सोलंकी, सांसद-अहमदाबाद। डॉ एम सी मिश्रा, पूर्व निदेशक एम्स दिल्ली। पद्मश्री डॉ डी एस राना, चैयरमेन-सर गंगाराम हॉस्पीटल,दिल्ली। एयरमार्शल पवन कपूर, वी.एस.एम., डायरेक्टर जनरल मेडिकल सर्विस, वायुसेना। डॉ एस पी ब्योत्रा, सर गंगाराम हॉस्पीटल,दिल्ली। डॉ प्रदीप भारद्वाज, महानिदेशक सिक्स सिग्मा ग्रुप। डॉ डी आर राय, उपाध्यक्ष आई एम ए। डॉ रजत मोहन, सर गंगाराम हॉस्पीटल,दिल्ली। भीखूभाई एन पटेल, सरदार पटेल एज्युकेशन ट्रस्ट,गुजरात। डॉ राजेश सी शाह। एस एल नासा, रजिस्ट्रार-दिल्ली फार्मेसी काउसिंल। रॉबिन हिबु, एडीजी, अरूणाचल के प्रथम आईपीएस अफसर। डॉ के राज कपूर। डॉ बिस्वरूप रॉय चौधरी, एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड। डॉ अनिता भारद्वाज, मेडिकल निदेशक सिक्स सिग्मा।

कार्यक्रम संयोजक ने कहा की सुश्री जांगिड़ की बचनप से ही राष्ट्र स्वाभिमानी विचारधारा रही है, वह वसुधैव कुटुम्बकम और लोगों के बेहतर जीवन की विचारधारा को लेकर चल रही है, उनकी सोच, कार्यशैली एक अनुपम उदहारण है, हमें ज्ञात हुआ की इन्होने स्वयं का बालविवाह नाकाम किया, समाज को कुरीतियों के प्रति जागरूक, पार्वती के सामाजिक कार्यों के साथ, विश्व समुदाय की चिंतन धारा इन्हे भीड़ से अलग करती है। इनकी प्रतिभा और उच्च कोटि के गुणों के समानार्थ यह अंतर्राष्ट्रीय पुरुस्कार ऑस्कर ऑफ हैल्थकेयर एण्ड लीडरशिप अवार्ड प्रदान किया गया।

विशिष्ट उपलब्धियाँ : मात्र 14 साल की उम्र से बालिका शिक्षा, समाजसेवा व सीमा जागरण का अनुकरणीय उदाहरण पेश किया। 2016 में पिता के देहांत के बावजूद राष्ट्र कार्य जारी, तीन बड़ी बहनों और दो छोटे भाइयों सहित परिवार को संभालना, सेवा कार्य जारी रखना, हिम्मत न हारने की वजह से दैनिक भास्कर के विमेन प्राइड अवार्ड-2017 के तहत देश की टॉप तीन चैंजमेकर महिलाओं में शामिल, 94.3 माय एफ.एफ की तरफ से राष्ट्रीय स्तरीय जियो दिल से अवार्ड, 2018 में फ्युचर लीडर ऑफ द वर्ल्ड के तहत इजरायल में हुए वर्ल्ड गवर्नेंस एक्सपेडीशन में देश का प्रतिनिधित्व किया, 13 से 19 अक्टुबर, 2018 तक इजरायल में तिरंगा लहरा, सर्वश्रेष्ठ डेलिगेट घोषित हुई और लीडरशिप का उत्कृष्ट सम्मान ‘‘चाणक्य अवार्ड‘‘ अपने नाम किया।

हाल ही विशेष उपलब्धि :

यूरोपीय देश, रिपब्लिक ऑफ मोल्दोवा के जिओग्राफी सैन्य संस्थान ने देश की बेटी और सामाजिक कार्यकर्ता, युथ आइकॉन व युवा संसद, भारत की चेयरपर्सन पार्वती जांगिड़ को ‘‘द नाइट ऑफ इंटरनेशनल इल्लुमिनेशन मेडल, ऑर्डर ऑफ लीडरशिप एंड द गर्ल हीरो अवार्ड‘‘ से अलंकृत किया। ज्ञात हो कि पार्वती की छोटी सी जिंदगी की संघर्ष की दास्ताँ यूरोपियन कंट्री माल्डोवा के युवाओं को सद्कार्य व देश के प्रति अपने कर्तव्य निभाने के लिए वहां की जियोग्राफी हिस्टोरिया सैन्य संस्थान पढ़ा रही, गरीबी के कारन वहां के युवा समुद्री डाकू, इत्यादि गलत कार्यों में जा रहे, युवाओं को पार्वती के कार्यों, हिम्मत और गरीबी को मात दे सदकार्य, देश निर्माण की भावना को पढ़ा प्रेरित कर रहे। पार्वती के हौंसले व हिम्मत को सम्मान देते हुए रिपब्लिक ऑफ मोल्दोवा के जिओग्राफी सैन्य संस्थान ने इस अंतर्राष्ट्रीय सम्मान से अलंकृत किया। पार्वती हर वर्ष रक्षाबंधन निमित्त 7-10 दिन बॉर्डर पर होती है, इसलिए वह जा नहीं पाई। यही पार्वती का देश व फौजी भाईयों के प्रति समपर्ण, भीड़ से अलग खास बनाता है। अन्तरराष्ट्रीय सम्मान के भारत पहुंचने पर केन्दिय युवा एवं खेल मंत्री किरन रिजूजी ने पार्वती को इस सम्मान व पदक से मंत्रालय में विभूषित किया। तथा लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला व पूर्व राष्ट्रपति एवं भारत रत्न श्री प्रणब मुखर्जी, राजस्थान के माननीय मुख्यमंत्री व राज्यपाल ने अपने आवास बुला कर आशीर्वाद दिया।

अब तक दर्जनों राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय सम्मानों से नवाजी गई है युथ आइकॉन पार्वती :

भारत की लक्ष्मी राष्ट्रीय पुरस्कार, नेशनल युथ आइकॉन अवार्ड, चाणक्य अवार्ड, वीर दुर्गादास राठौड़ सम्मान, द नाइट ऑफ इंटरनेशनल इल्लुमिनेशन मेडल, विश्वकर्मा रत्न, ऑर्डर ऑफ लीडरशिप, द गर्ल हीरो अवार्ड, जियो दिल से अवार्ड, सोशल एक्टिविस्ट ऑफ द इयर, पर्सनलटी ऑफ द इयर, सिस्टर ऑफ बी.एस.एफ., वुमन प्राइड, भारत गौरव, बाड़मेर गौरव, सहित कई सम्मानों से अलंकृत है पार्वती

पार्वती स्वामी श्री विवेकानन्द जी व प्रधानमंत्री नरेन्द्र मादी जी को आदर्श मानती है। बहुत ही सामान्य परिवार की बालिका पार्वती को इस मुकाम पर देख समाज व सीमावर्ती बालिकाएं जिन्होने पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी थी वापिस विद्यालय, महाविद्यालय जाना प्रारम्भ कर दिया। अन्तर्राष्ट्रीय पहचान बन चुकी, विश्वकर्मा रत्न और भारत गौरव सहित दर्जनों सम्मान प्राप्त पार्वती को राज्य व केन्द्र के कई मंत्री, धर्मगुरू, सीमा सुरक्षा बल, भारतीय सेना, एयर फोर्स सहित कई संस्थान व राष्ट्रवादी चिंतक सम्मान दे चुके है।

 

 

 

 

Share on Facebook
Share on Twitter
Please reload

Follow Us

I'm busy working on my blog posts. Watch this space!

Please reload

Search By Tags
Please reload

Archive
  • Facebook Basic Square
  • Twitter Basic Square
  • Google+ Basic Square
ABOUT US

वॉइस ऑफ़ भारत, हमारी कोशिश है आपको भारत की वो तस्वीर दिखाने की, जिसे अनगिनत, अंजाने नागरिक उम्मीद के रंगों से संवार रहे हैं. 

ADDRESS

56, Gayatri Nagar, Palroad, JODHPUR-342008 Bharat

SUBSCRIBE FOR EMAILS
  • Grey Facebook Icon
  • Grey Google+ Icon
  • Grey Instagram Icon

© 2019-20 Voice of Bharat