• Team Voice of Bharat

इजरायल में तिरंगा लहरा जोधपुर पहुंची भारत की बेटी के स्वागत में गूंजे देश भक्ति तराने


(भारत की बेटी के स्वागत में बी.एस.ऍफ़. के साथ स्वागत में उमड़ा जोधपुर शहर, मनासा, भीलवाड़ा, झुंझुनू,सीकर,बाड़मेर सहित कई जगहों से आये शुभचिंतक)

दिल्ली/जोधपुर:

इजरायल में भारत के परचम के साथ जोधपुर का गौरव बढ़ा सोमवार को पार्वती जांगिड़ सुथार जोधपुर एयरपोर्ट पहुंची, जहाँ कई संगठनों ने भव्य स्वागत किया गया, तत्पश्चात गायत्री नगर में पार्वती का भव्य नागरिक अभिनन्दन किया गया।

सीमा सुरक्षा बल के विशेष बैंड ने स्वागत गीत और उपस्थित जनसमूह ने फूल मालाओं से सरोबार कर पार्वती के अभिनंदन में कोई कसर नहीं छोड़ी

बी.एस.ऍफ़. के जवानो ने बैंड बाजे के साथ तो परिवार व जनसमूह ने फूलो की बारिश से स्वागत किया, वहीँ मनासा मध्यप्रदेश से कवि दादू प्रजापति के सानिध्य में आये बांसुरी वादक विक्रम कनेरिया ने सुमधुर धुन से सबको मंत्रमुग्ध कर दिया तो वहीँ आर्टिस्ट मुकेश सुथार ने बी.एस.ऍफ़. के जवानो की उपस्थिति में फौजी का लाइव कलर्ड पोर्ट्रेट बनाकर स्वागत समारोह को देश भक्ति के रंग में रंग दिया।

मध्यप्रदेश से आर्टिस्ट राजेश प्रजापति, गणेश जैन, गोविन्द गंधर्व, सत्यनारायण सोनी, राहुल सोनी, व अन्य कई कलाकारों ने अपनी अपनी प्रस्तुति से पार्वती का अभिनन्दन किया।

परिवहन निरीक्षक भरत जांगिड़ ने सम्बोधित करते हुए कहा, की पार्वती न सिर्फ जोधपुर की बेटी है वह भारत की बेटी है और करोडो बालिकाओं, महिलाओं की प्रेरणाश्रोत है, महिलाये घर को तो श्रेष्ठ संभालती ही है और देश समाज को नई दिशा देने की एक श्रेष्ठ प्रेरणा पार्वती है, मात्र 21 वर्ष की छोटी सी उम्र में जो पार्वती की सोच, विचार और कार्य है, यह सामान्य इंसान सोच भी नहीं सकता। में इनके होंसले को सेल्यूट करने आया हु।

उप-परिवहन निरीक्षक पुष्पेंद्र शर्मा ने संबोधित करते हुए कहा की पार्वती सिर्फ पार्वती है, इसका कोई पर्याय नहीं, इजरायल डेलिगेशन में जाके भारत का गौरव बढ़ाया और जोधपुर का नाम रोशन किया , यह हम सबके लिए गर्व की बात है, सभी युवाओं को देश के प्रति जज्बे को जीवंत रखने की प्रेरणा पार्वती से लेना चाहिए,

पार्वती के मानस पिता मनासा मध्यप्रदेश के सुप्रसिद्ध कवि दादू प्रजापति ने कहा की मेरी बेटी पार्वती में साक्षात् जगदम्बा पार्वती का अंश है, वो ही माँ जगदम्बा मेरे पुत्री रूप में आ गई, मेरे शरीर में प्राण है तब तक कोसिस रहेगी की पार्वती को जन्मदाता पिता स्वर्गीय लूणाराम जी सुथार की कमी खेलने नहीं दूंगा, पिता का धर्म पूर्ण ईमानदारी के साथ निभाउंगा।

महेंद्र तंवर, कुलदीप जांगिड़, पवन जांगिड़, संदीप जांगिड़, जगदीश बाघमार, हेमंत माकड, चम्पालाल राणेजा, त्रिलोक जांगिड़, शम्भू जांगिड़, देवेंद्र रामावत, सुरेश टेलर, संजय सोनी, लाधुराम, जीवराज, कृष्ण इत्यादि ने सम्बोधित किया।

पार्वती ने इजरायल यात्रा के अनुभव शेयर करते हुए कहा की हमारे देश में खेती करना जैसे कोई मजबूरी का काम है, ऐसी दृष्टि से देखा जाता है, लेकिन इजरायल में पढ़े लिखे लोग बड़ी ठसक से खेती करते है, उनकी खेती प्रणाली, ड्रिप इरिगेशन सिस्टम विश्व प्रसिद्ध है, हमें भी हमारे युवाओं को उन्नत खेती के लिए वैज्ञानिक पढ़ती को अपनाना होगा, ऑर्गनिक को बढ़ावा।

पार्वती ने अपने कई अनुभव शेयर करते हुए कहा की हम भारतीय किसी तरह से भी पिछड़े नहीं है लेकिन हमारी राष्ट्र प्रथम की भावना को प्रबल करनी होगी, पार्वती ने कहा हम गाजा पट्टी गए थे, बॉर्डर पर, बॉर्डर पर स्थित इजरायल इंस्टिट्यूट ऑफ़ लीडरशिप, सदेरो का दौरा प्रेरणामय है, पार्वती का कहना की यह ठीक वैसा ही है जैसे हम कारगिल एल. ओ. सी. पर एक ऐसे राष्ट्रीय लीडरशिप संस्थान की कल्पना कर सकते है क्या। आरामदायक जगह से दूर लेकिन राष्ट्रभक्ति से ओत प्रोत है यह संस्थान, गाज़ा पट्टी जो विश्व की सबसे खतरनाक जगह में से एक है, लेकिन इजरायल ने यहाँ नेतृत्व संस्थान खोल अपने लोगों में देश भक्ति की भावना प्रगाढ़ की, उनकी सुरक्षा सुनिश्चित की।

वहां हर समय हमले होते रहते है, इजरायल की 15%जनसँख्या गाजा पट्टी बॉर्डर पर रहती है, लेकिन इजरायल सुरक्षा बल ने उनकी सुरक्षा सुनिश्ति की है.

इस प्रकार पार्वती ने अपने 13 अक्टूबर से 19 अक्टूबर,2018 तक इजराइल में हुए वर्ल्ड गर्वनेंस एक्सपेडिशन के अनुभव शेयर किये, जिसे उपस्थ्ति जनसमूह ने भारत माता की जय के उद्धघोष से सेल्यूट किया।

भारत-इज़राइल संबंधों पर चर्चा, #इजराइल_पार्लिआमेंट #क्नेसेट, इजरायली सुप्रीम कोर्ट, #भारतीय_दूतावास_इजराइल, #जेरूसलम में सांस्कृतिक आयोजन, #यद्व_शेम_होलोकॉस्ट_म्यूजियम, #प्राइमरी_शिक्षण_संस्थान, #इजराइल_थिंक_टैंक, #ड्रिप_इरीगेशन_सिस्टम, बॉर्डर सिक्युरिटी समझाना, विश्व की सबसे खतरनाक जगह गाज़ा पट्टी का दौरा इत्यादि प्रोजेक्ट्स में भाग लिया।

पार्वती ने बताया कि देश के नाम इस अद्वितीय प्रवास के लिए मैं विदेश मंत्रालय, इजरायल सरकार, भारत सरकार, भारत में इजरायल एम्बेसी और उसकी चीफ माया कदोश के साथ विशेष विजन इंडिया फाउंडेशन की पूरी टीम, अरुणिमा गुप्ता, शोभित माथुर, कुमार शुभम का हार्दिक आभार प्रकट करती हूँ की मुझे देश के टॉप 30 यंग लीडर्स में शामिल किया और यह गौरव प्रदान किया।

इजरायल में भी छाई रही थी पार्वती और सर्वश्रेष्ठ डेलीगेट घोषित हुई थी, जिसकी बदौलत मिला चाणक्य अवार्ड

पार्वती की वर्ल्ड गर्वनेंस एक्सपेडिशन में उत्कृस्ट सहभागिता से प्रभावित हो कई डिप्लोमेट, इजरायल विदेश मंत्री, एम्बेसडर, व कई नेताओं ने भी प्रशंशा की, और बधाई दी थी।

इजरायली विदेश मंत्रालय में भी पार्वती का भारत और इजरायल संबधो पर व्याख्यान उत्कृष्ट रहा, जिसकी बदौलत विदेश मंत्रालय ने सम्मनित किया। इस गौरवमयी पल पर इजरायली व भारत के कई मंत्रियों, अधिकारिओं ने भी बधाईया दी, राजस्थान मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे जी व जोधपुर के ही सांसद, केंद्रीय मंत्री गजेन्द्रसिंह शेखावत जी ने भी इस पल को भारत के लिए गौरव बता बधाई दी।

और गौरव की बात है की इजरायल संसद, क्नेसेट में पार्वती की उपस्थिति विश्व की सबसे कम उम्र की महिला के रूप में हो गई, इजरायली संसद क्नेसेट में पार्वती की मौजूदगी, विचार विमर्श अपने आप में बड़े गौरव की बात है।

डेलिगेशन के भारत आने पर सम्मान समारोह में पार्वती को सर्वश्रेष्ठ डेलीगेट घोषित कर चाणक्य अवार्ड से सम्मानित किया, उत्कृष्ट नेतृत्व क्षमता में भारत का सबसे प्रतिष्ठित अवार्ड पार्वती को मिलना यह बड़े गौरव की बात है। यह अवार्ड यूनाइटेड नेशंस में भारत के फॉर्मर स्थायी राजदूत अशोक मुखर्जी के श्री हस्ते प्रदान किया गया,

इजरायल में ये प्रेरणादायक बैनर लगा इजरायलियों को किया भारत आमंत्रित


Featured Posts
Recent Posts
Archive
Search By Tags
Follow Us
  • Facebook Basic Square
  • Twitter Basic Square
  • Google+ Basic Square

वॉइस ऑफ़ भारत, हमारी कोशिश है आपको भारत की वो तस्वीर दिखाने की, जिसे अनगिनत, अंजाने नागरिक उम्मीद के रंगों से संवार रहे हैं. 

SUBSCRIBE FOR EMAILS
  • Twitter
  • Facebook
  • Tooter

© 2021-22 Voice of Bharat